Song Title: Shaapit Huwa
Singer: Hindi Song Shaapit Huwa
Writer:
Lyrics of the song 'Shaapit Huwa' from bollywood movie/album 'Shaapit'


bhulenge naa ye pal jab apane pyar ka beeta kal
shaapit huwa

kya kya hota hai chaahat ki anjaani si raahon main
dekha hamane jaakar khud apani maut ki gufaao main
katara katara chillaati hai andhkaar ki har deewaar
aaya aashiq shaapit kar ke sunkar aashiq ka ijhhaar
shaapit huwa tere pyar mein, shaapit huwa ikraar main - (2)
bojhal ho gaya pyar pehana gayi woh maut ka haar aur mein
shaapit huwa

sochane ki ye baat hai jisame naa jism hai naa jaan hai
? ke jivit shaap ne chhine mere praan hai
naa shamajhe woh prem ? judaayi ka ehsaas
mehbub aur mehbuba ke tadapate dil ki bhuk aur pyaas
shaapit huwa tere pyar mein, shaapit huwa ikraar main - (2)
bojhal ho gaya pyar pehana gayi woh maut ka haar aur mein
shaapit huwa

tere pyar ki jyot mujhe iss andhakaar se bachaayegi
o mere ? tere haathon se hi mukti paayegi
aayega woh pal jab khushiya chikhengi chillaayengi
tere paas tere sapani ki raajkumaari aayegi
baahon main baahein haathon main haath
chaahu bas tera hi saath har din har raat
bhulenge naa ye pal jab apane pyar ka beeta kal
shaapit huwa, shaapit huwa, shaapit huwa, shaapit huwa








Hindi Lyrics :



भूलेंगे ना यह पल जब अपने प्यार का बीता कल
शापित हुवा

क्या क्या होता है चाहत की अंजानी सी राहों में
देखा हमने जाकर खुद अपनी मौत की गुफाओ में
कटरा कटरा चिल्लाटी है अंधकार की हर दीवार
आया आशिक़ शापित कर के सुनकर आशिक़ का इझहहार
शापित हुवा तेरे प्यार में, शापित हुवा इकरार में - (2)
बोझल हो गया प्यार पहना गयी वो मौत का हार और मैं
शापित हुवा

सोचने की यह बात है जिसमे ना जिस्म है ना जान है
? के जीवित शाप ने च्चीने मेरे प्राण है
ना शामाझे वो प्रेम ? जुदाई का एहसास
महबूब और महबूबा के तड़पते दिल की भूक और प्यास
शापित हुवा तेरे प्यार में, शापित हुवा इकरार में - (2)
बोझल हो गया प्यार पहना गयी वो मौत का हार और मैं
शापित हुवा

तेरे प्यार की ज्योत मुझे इश्स अंधकार से बचाएगी
ओ मेरे ? तेरे हाथों से ही मुक्ति पाएगी
आएगा वो पल जब खुशिया चीखेंगी चिल्लाएँगी
तेरे पास तेरे सपनी की राजकुमारी आएगी
बाहों में बाहें हाथों में हाथ
चाहु बस तेरा ही साथ हर दिन हर रात
भूलेंगे ना यह पल जब अपने प्यार का बीता कल
शापित हुवा, शापित हुवा, शापित हुवा, शापित हुवा





Add Your Comment